दोस्त और मित्र हमारे जीवन में वो इंसान होता है जिसे हम सबसे खास मानते हैं। दोस्ती एक ऐसा रिश्ता होता है जो हर कोई अपने हिसाब और अपने मन से करता है। अपने दोस्त को हम अपनी हर बात बताते हैं। हमे अक्सर कहा जाता है कि अपने दोस्तों का चुनाव करने में लापरवाही न बरतें। किसी से हमारी दोस्ती इतनी गहरी होती है कि हम उसके हर सुख दुख को अपना मान लेते हैं।लेकिन कई बार यही दोस्ती हमें घातक भी साबित हो जाती है। हाल ही में एक खबर सामने आई है कि एक दोस्त ने दूसरे दोस्त की बड़ी बेरहमी से हत्या कर दी है।

ये पूरा मामला उत्तर प्रदेश के आगरा का है। यहां एक दोस्त ने दूसरे दोस्त की बड़ी बेरहमी से हत्या कर दी। पहले गोली मारी, फिर दोस्त का सिर धड़ से अलग कर दिया। आरोपी हत्या का सुराग मिटाने की तैयारी में थे, लेकिन इससे पहले गश्ती पुलिस मौके पर पहुंच गई और इस घटना को संज्ञान में लिया। पुलिस को आरोपियों की कार से कटा हुआ सिर मिला है।

कुछ दूरी पर चांदी कारोबारी का सिर धड़ से अलग पड़ा मिला। पुलिस ने आरोपी टिंकू भार्गव और वारदात में शामिल अनिल को गिरफ्तार कर लिया है। टिंकू भार्गव, भारतीय जनता पार्टी अल्पसंख्यक मोर्चा का जिलाध्यक्ष बताया जा रहा है। सिकन्दरा पुलिस मृतक नवीन वर्मा के भाई प्रवीन शर्मा की तहरीर पर टिंकू भार्गव और अनिल के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

दिलदहला देने वाली ये वारदात आगरा के सिकन्दरा थाना क्षेत्र की है। मृतक नवीन वर्मा के भाई प्रवीन ने बताया है कि 4 अगस्त को दोपहर 3:30 बजे नवीन अपने दोस्त टिंकू भार्गव का काम आने पर घर से एक्टिवा लेकर गया था, शाम 8:00 बजे बेटी ने नवीन को फोन किया, नवीन ने बेटी को बताया कि वह टिंकू भार्गव और उसके दोस्त अनिल के साथ है।

एक घंटे बाद परिवार के लोगों ने दोबारा फोन किया तो टिंकू और नवीन का फोन स्विच ऑफ बताने लगा। रात में पुलिस ने प्रवीण को घर पहुंच कर जानकारी दी कि उसके भाई के साथ सिकंदरा में कोई घटना हो गई। जानकारी मिलते ही प्रवीन अपने दोस्तों के साथ सिकंदरा अरसेना के जंगल पर पहुंचा। मौके पर सड़क किनारे सफेद रंग की कार खड़ी थी।

गाड़ी के अंदर मृतक नवीन का सिर पड़ा हुआ था, जबकि गाड़ी के नीचे निर्वस्त्र धड़ पड़ा हुआ था। आरोपी टिंकू भार्गव भाजपा अनुसूचित मोर्चा का जिलाध्यक्ष है। पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस टीम आरोपियों से पूछताछ कर यह पता लगाने के प्रयास में जुटी है कि दोनों ने इस जघन्य वारदात को क्यों अंजाम दिया।