ग्यारह दिवसीय शिव महा पुराण कथा का विश्राम कथा वाचक मंगलपुरी को दी विदाई,पाड़ीव के लिए हुए प्रस्थान कालंद्री। सावन के महीने में भगवान भोलेनाथ के प्रति अपनी गहरी भक्ति भाव को दर्शाते हुए कथा के आयोजक हड्डमतिया हनुमानजी के संत प्रकाशगिरी महाराज ने ग्यारह दिवसीय शिव महा पुराण कथा ज्ञान यज्ञ के धार्मिक कार्यक्रम का सफल आयोजन गुरुवार शाम को सम्पन्न हुआ। कार्यक्रम के आयोजक श्री प्रकाशगिरी महाराज ने कथा के समापन समारोह में कथा वाचक स्वामी मंगलपुरी महाराज का व कथा में सहयोग करने वाले भामाशाह व ग्रामवासियों का आभार प्रकट किया। कथा के आयोजक श्री प्रकाशगिरी महाराज ने बताया की ग्यारह दिवसीय इस धार्मिक कार्यक्रम में आयोजन हेतु गाव के सभी भाविक भक्तजनों ने तन मन व धन से भरपूर सहयोग दिया उसके लिए वह आभारी हैं और उन्होंने समाजसेवी,भामाशाह व ग्रामवासियों से आग्रह किया कि आप भविष्य में भी मंदिर निर्माण कार्य के लिए सहयोग करेंगें।शुक्रवार सुबह कथा वाचक श्री मंगलपुरी महाराज को पाड़ीव के लिए प्रकाशगिरी महाराज ने भावुकता पूर्वक विदायी दी गयी। कथा के अंतिम ग्यारहवें दिन महाआरती व प्रसादी का भी आयोजन रखा गया था। जिसमे शिव भक्तों ने आरती व प्रसादी का लाभ लिया,महाप्रसादी का चढ़ावा लाभार्थी सोनी तेजपाल पुत्र नवलमल राठौड़ निवासी कालंद्री ने लिया। प्रसादी के लाभार्थी परिवार व ग्यारह दिवसीय कथा में संगीत का साथ देने वाले सभी संगीतकारों,पत्रकारों व अन्य सहयोगियों का श्री प्रकाशगिरी महाराज व कन्यागिरी महाराज के हाथों बहुमान किया गया।शुक्रवार सुबह महाप्रसादी रखी गई थी जिसमे सभी भक्तो ने प्रसादी का आनंद लिया। इस दौरान ग्यारह दिवसीय कथा में सहयोग करने वाले व्यापार मंडल कालंद्री के अध्यक्ष कमलेश पुरोहित,गौभक्त मोतीसिंह राजपूत,शंकरलाल पुरोहित,जगदीश माली,मोहनदास,दिनेश चौहान,सुरेश पुरोहित आदि मौजूद रहे।