दरअसल महिला और उसकी बेटी का एक ही आदमी से नाजायज संबध था

पटना। बिहार की राजधानी पटना के गौरीचक थाना इलाके से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। यहां मां और बेटी ने मिलकर एक शख्स को मौत के घाट उतार दिया। दरअसल महिला और उसकी बेटी का एक ही आदमी से नाजायज संबध था। जिसे लेकर पति हमेशा विरोध करता था। महिला अपने पति और बेटी अपने पिता से इस कदर परेशान हो गई थी कि उसने कत्ल कर दिया। बहरहाल पुलिस ने पत्नी, बेटी और दोनों के प्रेमी को गिरफ्तार कर लिया है।

दरअसल, एक महीने गौरीचक थाना इलाके में अर्जुन मांझी उर्फ बराती मांझी की हत्या हुई थी। पुलिस ने हत्याकांड का खुलासा करते हुए बताया कि मां और बेटी को एक ही आदमी पसंद था। पति ने जब इसका विरोध किया तो प्रेमी से दोनों ने हत्या करा दी। थानाध्यक्ष लालमुनि दुबे ने बताया कि गांव के शिदेश्वर गोप से अर्जुन की पत्नी और बेटी से प्रेम प्रसंग चल रहा था। इसकी जानकारी अर्जुन मांझी को हुई तो उसने विरोध किया। आक्रोशित अर्जुन ने पत्नी-बेटी की पिटाई भी की थी। इस बात से नाराज पत्नी-बेटी ने अर्जुन की हत्या करने की साजिश प्रेमी के साथ मिलकर रची। हत्या के लिए मां-बेटी ने शिदेश्वर को भी साथ कर लिया।

शव को पत्थर बांधकर नदी में फेंक दिया

पुलिस के समक्ष आरोपितों ने बताया कि अर्जुन जब रात में खाना खाकर सो गया तब मां बेटी ने सिदेश्वर को घर में बुलाया और तीनों ने गला दबाकर उसकी हत्याकर दी। राते में शव को भारी पत्थर से बांधकर नदी में डाल दिया। पुलिस ने सिदेश्वर को जय प्रकाश नगर से गिरफ्तार कर लिया। अर्जुन की पत्नी-बेटी की गिरफ्तारी की जानकारी मिलने पर रघुरामपुर के सैकड़ों महिला-पुरुष गौरीचक थाना पर जमा हो गए। ग्रामीण हत्यारों को कड़ी सजा देने की मांग कर रहे थे। काफी मशक्कत के बाद पुलिस वाहन में बैठाकर पुलिस टीम ने तीनों आरोपितों को जेल ले गई।