एक 70 साल के पति को 65 साल की पत्नी के चरित्र पर शक था। जब पत्नी कहीं जाती तो शक के चलते वह भी उसके साथ जाता था। इसी के कारण पति-पत्नी में आए दिन विवाद और मारपीट होती रहती थी, लेकिन इस पर मामला शांत नहीं हुआ और इस बार तो पति ने सारी सीमाएं लांघ दी और बुधवार को देर रात वह हैवान बन बैठा। पत्नी की धारदार हथियार से गला रेत कर मौत के घाट उतार दिया।

घटना फतेहपुर जिले के असोथर थाना क्षेत्र की है। थाना क्षेत्र में सरवल गांव का रहने वाला शिवबरन विश्वकर्मा और पत्नी ललिता देवी, बेटे बब्लू के साथ रहते थे। बुधवार की रात करीब आठ बजे शिवबरन खाना खाकर घर के बाहर बरामदे में सो रहा था। वहीं, बगल में चारपाई पर उसकी पत्नी भी सो रही थी। रात को जब पत्नी गहरी नींद में सो गई, तब मौका मिलते ही सोते समय सिर और गले पर कुल्हाड़ी से कई वार कर दिया। वार इतना घातक था कि पत्नी की मौके पर ही मौत हो गई। अपनी पत्नी को मौत के घाट उतारने के बाद पति उसी की चारपाई के नीचे छिपकर बैठ गया था।

सुबह जब पड़ोसी घर के सामने से गुजरे तो शिवबरन को पत्नी ललिता की चारपाई के नीचे छिपा बैठा देखा। आशंका पर चारपाई के पास पहुंचे पड़ोसियों ने बुजुर्ग महिला का रक्तरंजित शव पड़ा देख सन्न रह गए। महिला के गले में धारदार हथियार से वॉर किए जाने के निशान भी थे। ग्रामीणों ने घर के अंदर सो रहे बेटे को घटना की जानकारी देते हुए पुलिस को सूचित किया। इस पर पर मौके पर पहुंची पुलिस ने आरोपी पति को गिरफ्तार कर शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया।