बीना/सागर। दुल्‍हन को ब्‍याहकर वापस लौट रही बारातियों से भरी एक बस अनियंत्रित होकर पलट गई। इस हादसे में 14 बाराती घायल हुए हैं, इसमें एक 10 साल का बच्चा भी शामिल हैं। घायलों में पांच की स्थिति गंभीर है, जिन्हें प्राथमिक उपचार के बाद सागर रेफर कर दिया गया है। शेष घायलों का सिविल अस्पताल में इलाज चल रहा है।

हादसा गुरुवार सुबह करीब 9 बजे आगासौद गांव के पास मोड पर हुआ है। जानकारी के मुताबिक राहतगढ़ थानांतर्गत आने वाले बिनायकी गांव निवासी इमरत कुर्मी के बेटे की बारात भानगढ़ क्षेत्र के गिरोल गांव में फेरनसिंह कुर्मी के यहां आई थी। शादी संपन्न होने के बाद बस क्रमांक एमपी 15 पीए 0510 में सवार होकर बाराती वापस लौट रहे थे। गांव से बमुश्किल 8 किमोमीटर की दूरी पर आगासौद गावं के पास मोड पर बस पलट गई। बस पलटने से अरविंद पिता भगवानदास पाल (28), इमरत पिता अमर सिंह कुर्मी (50), राघवेंद्र पिता मुन्नालाल कुर्मी (35), माखन पिता भवरसिंह कुर्मी (60), अरविंद पिता बबलू कुर्मी (10), राजाराम पिता गनपतसिंह (70), रामप्रसाद पिता रतनलाल चढ़ार (65), गंर्धव पिता गजराज कुर्मी (50), वीरेंद्र पिता गोवंदी ठाकुर (45), रामकिशन पिता जगन्नाथ कुर्मी (66), नंदकिशोर पिता बुद्धे सौर (27), दिनेश पिता गुमान बंसल (38), गुमान पिता मेंगे बंसल (60) सहित ड्राइवर भगवानदास पिता बाबूलाल (45) घायल हुए हैं। इनमें से 10 साल के बच्चे आदित्य के अलावा माखन, राजाराम, रामप्रसाद, गंधर्व की हालत गंभीर है। पांचों को प्राथमिक उपचार के बाद सागर रेफर कर दिया गया है।

ड्राइवर की लापरवाही से हुआ हादसा

बस में सवार बाराती हरिराम कुर्मी ने बताया कि ड्राइवर जमकर शराब पिए हुए था। वह शराब के नशे में तेज रफ्तार से बस चला रहा था। बस में सवार सभी बारातियों ने उसे बस धीमी चलाने को कहा, लेकिन वह किसी की बात नहीं सुन रहा था। नशे की हालत में वह बस पर नियंत्रण नहीं रख सका और आगासौद गांव के पास बस पलट गई। सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची आगासौद पुलिस ने जांच शुरू कर दी है।