जालोर 7 मई। जिला कलक्टर हिमांशु गुप्ता ने जिले के समस्त उपखंड अधिकारियों को ग्रामीण स्तर पर कोरोना संक्रमण बचाव एवं रोकथाम व्यवस्थाओं को और अधिक सुदृढ़ करने के लिये निगरानी समितियों को प्रभावी बनाने के निर्देश दिये हैं।
जिला कलक्टर गुरूवार को कलेक्ट्रेट में जिले के उपखंड एवं विकास तथा पुलिस अधिकारियों व बी.सी.एम.ओ. से वीडियो कॉफ्रेंस के माध्यम से कोरोना संक्रमण बचाव प्रबन्धन के बारे में जानकारी ले रहे थे।
उन्होंने उपखंड अधिकारियों को गुजरात से लगी सीमाओं को सील करने, कच्चे रास्ते बंद करने, होम क्वारेंटाईन किये गये व्यक्ति एवं परिवारों पर विशेष निगरानी रखने और ऐसे व्यक्ति जो होम क्वारेंटाईन के नियमों का उल्लंघन करते पाये जायें तो उनके विरूद्ध कानूनी कार्यवाही करने के निर्देश दिये।
जिला कलक्टर ने जिले में भीलवाड़ा मॉडल की तर्ज पर कोरोना संक्रमण बचाव प्रबन्धन को लागू करने, होम क्वारेंटाईन किये गये व्यक्ति के परिवार के सभी व्यक्तियों के मोबाईल नम्बर प्रपत्र-4 में दर्ज करने, यदि होम क्वारेंटाईन परिवार के बच्चे भी घर के बाहर घूमते हुए मिले तो परिवार के मुखिया को संस्थागत क्वारेंटाईन करने आदि के संबंध में विस्तार से दिशा-निर्देश दिये।
उन्होंने कहा कि जिले में काफी संख्या में बाहर से प्रवासी आये हैं इससे जिले के निवासियों को कोरोना संक्रमण से प्रभावित होने की संभावनाएं भी बलवती होंगी, इसलिये उन्हें इसके लिये और अधिक सतर्क एवं सजग रहने की आवश्यकता है।
उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रों में पेयजल आपूर्ति प्रबन्धन को सुचारू बनाये रखने, आवश्यकतानुसार टैंकर्स से पेयजल परिवहन कर पेयजल घरों में उपलब्ध कराने के भी निर्देश दिये।
पुलिस अधीक्षक हिम्मत अभिलाष ने अधिकारियों से ग्राम रायथल एवं वीराणा में प्रातः फ्लेग मार्च के संबंध में व्यवस्थाओं की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि जैसे ही किसी भी इलाके में कोरोना पॉजिटिव केस की जानकारी मिले तुरन्त 3 कि.मी. परिधि क्षेत्र को कन्टेनमेंट जोन में परिवर्तित कर कानून व्यवस्थाओं पर निंयत्रण बनाये रखें। कच्चे रास्ते बंद कर दें। पैदल आने वालों पर निगरानी रखें। उन्होंने कहा कि प्रवासी ट्रक, टैंकर द्वारा भी चोरी छिपे आ सकते हैं इसकी भी निगरानी रखी जाये। उन्होंने कोरोना प्रोटोकॉल के अनुसार मुस्तैद रहने को कहा।
वीडियो कॉफ्रेंस में अतिरिक्त जिला कलक्टर सी.एल.गोयल, मुख्य कार्यकारी अधिकारी अशोक कुमार, अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुरेश कविया, सीएमएचओ डॉ.जी.एस.देवल, पीएमओ डॉ.एस.पी.शर्मा सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।