सीतापुर से पंकज कुमार की खास रिपोर्ट

लहरपुर श्री राम मंदिर निर्माण हेतु समर्पण अभियान आज गांव में चलाया गया जिसमें श्रद्धा अनुसार राम भक्तों ने व राम विचारधारा के लोगों ने अपना योगदान दिया जिसमे बच्चे बूढ़े और नवजवान बढ़ चढ़ कर हिस्सा ले रहे जिसमे राम भक्त घर घर पहुंच कर अयोध्या में बन रहे भव्य श्री राम प्रभु के मंदिर की जानकारी देते है और उनसे समर्पण निधि लेते और जिसकी जो श्रद्धा भगवान श्री राम प्रभु के चरणों में देने की होती है वह अपने कमाई का भाग श्री राम मंदिर निर्माण में एक आहूत के रूप में प्रदान करता है और यह दर्शाता है की श्री राम के मंदिर में मेरा यह एक तिनका मात्र योगदान है जो मैं दे रहा हूं, श्री राम के भक्त श्री राम के विचारों को मानने वाले समस्त जनमानस श्री राम मंदिर निर्माण में अपना योगदान दे रहे हैं, वैसे तो प्रभु श्री राम को कोई क्या दे सकता है जो सबको रोजी-रोटी देते हैं पर आम जनमानस का यह मानना है कि जब श्री राम लंका पर चढ़ाई करने के लिए चले तब जो सेतु बनाया जा रहा था उसमें एक से एक बलि वानर पत्थर फेंक रहे थे उसी समय श्री राम की नजर एक गिलहरी पर पड़ती है और वह देखते हैं कि वह गिलहरी पहले रेत में लेट कर बालू अपने शरीर पर लगा लेती है और फिर उसे जाकर पत्थरों के बीच में बनी दरारों में छोड़ देती है इस तरह के विचारों से परिपूर्ण व्यक्तित्व अपना अहम योगदान श्री राम मंदिर निर्माण में दर्ज करवा रहे हैं यह कार्यक्रम बिल वापस उड़ा रमपुरवा रतौली आदि गांव में चलाया गया जिसमें प्रमुख रुप से मयंक शेखर पांडेय आलोक पांडेय राजा शुक्ला नीरज शुक्ला आदि लोग उपस्थित थे