बीरेंद्र सिंह सेंगर

चंबल बैली पंचनद धाम

 

 

माधौगढ़ (जालौन)। सात वर्ष पुराने महावीर मंदिर स्थित हनुमान की मूर्ति को अराजकतत्वों ने कुल्हाड़ी व लोहे की राड मारकर क्षतिग्रस्त कर दिया। फिर मंदिर के पास बने तीन देव चबूतरे को भी क्षतिग्रस्त कर दिया। गुरुवार सुबह जब लोगों को जानकारी हुई तो पुलिस को सूचना दी। तनाव देख गांव में फोर्स तैनात कर दिया गया है।

 

रेंढर थाना क्षेत्र के गांव अनघौरा निवासी कस्तूरी देवी पत्नी जनार्दन सिंह ने अपने निजी बाग में हनुमान मंदिर की स्थापना सात वर्ष पूर्व की थी। मंदिर के पास मसान बाबा, कारसदेव व ब्रह्मदेव का चबूतरा है। दो माह पूर्व कस्तूरी देवी अपने पुत्र भानुप्रताप सिंह के साथ अनघौरा गांव आईं और हनुमानजी की मूर्ति में चांदी की आंख लगवाकर पुत्र के साथ वापस औरैया चली गईं। 

आरोप है कि बुधवार शाम गांव के कुछ लोगों ने कुल्हाडी़ व लोहे की राड से हनुमान की मूर्ति को क्षतिग्रस्त कर आंख निकाल ली। इतना ही नहीं देवों के बने चबूतरा को भी क्षतिग्रस्त कर दिया। क्षेत्र में तनाव को देखते हुए गांव में पुलिस तैनात कर दी गई है। रेंढर थानाध्यक्ष अशोक कुमार वर्मा का कहना है कि मंदिर के संरक्षक की ओर से सात लोगों के खिलाफ तहरीर दी गई है। जिसकी जांच पड़ताल की जा रही है।