0 0
Read Time:4 Minute, 3 Second

नोखा. ब्रह्मलीन संत श्री दुलाराम कुलरिया के पुत्र भंवर-नरसी-पुनम कुलरिया ने गुरुवार को कोरोना आपदा कोष के लिए नगरपालिका नोखा के अध्यक्ष नारायण झंवर को 11 लाख रुपए का चैक सौंपा व उन्हाेने आपदा के समय मानवता की सेवा में जुटे पालिका के अध्यक्ष, सदस्यों व प्रशासन के प्रयासों की सराहना की। उन्होनें उक्त राहत राशि का चैक सौंपने के बाद कहा कि वैश्विक महामारी कोविड़-19 कोरोना वायरस से बचाव के लिए प्रधानमंत्री, राज्य के मुख्यमंत्री द्वारा की गयी राहत राशि की अपील के बाद सभी सामाजिक, राजनैतिक व अन्य लोगों को सरकार की मदद के साथ ही अपने आसपास पड़ोस के बेसहारा लोगों की मदद करने को आगे आना चाहिए। भंवर-नरसी-पुनम कुलरिया ने लोगों को जागरूक करते हुए कहा कि कोरोना वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति तक फैलने वाली बीमारी है और इसके लक्षण प्रकट होने में समय भी लग जाता है। इसलिए आपसी संपर्क को न्यूनतम करने के लिए सरकार ने लॉकडाउन लागू किया है। हर व्यक्ति को लॉकडाउन के नियमों का पालन करना चाहिए, क्योंकि यह स्वयं हमारी भलाई के लिए लागू किया गया है। जनता सहयोग करेगी तो जल्द ही भारत से इस बीमारी का खात्मा होगा। भामाशाह नरसी कुलरिया ने बताया कि कोरोना से बचने के लिए घर से बाहर न निकलें और एक दूसरे से कम से कम एक मीटर की दूरी बनाए रखें। यदि हम बाहर जाएगें तभी वायरस हमारे माध्यम से घर में प्रवेश करसकता है। हर व्यक्ति को अपने मुंह को कपड़े से बने मास्क से ढकर रखना चाहिए। ताकि वायरस शरीर में प्रवेश न कर सके। हमें बार बार हाथ भी धोने चाहिए ताकि यदि वायरस हाथों में सम्पर्क में है तो वह साबुन व पानी के साथ नष्ट हो जाए। युवा उद्यमी व भामाशाह पुनम कुलरिया ने कहा कि परिस्थितियां प्रतिकूल हैं लेकिन हमें धैर्य और हिम्मत बनाये रखना है। इस संकट की घड़ी में सभी को अपने आस पास जरूरतमंदों का ख्याल रखना होगा ताकि कोई भूखा ना रहे। उन सभी लोगों को साधुवाद देता हूँ जो लगातार जरूरतमंदों की सेवा में लगे हुए हैं। जरूरतमंदों के लिए सहयोग से आगे भी जारी रहेगी। हमारा सौभाग्य है कि इस संकट की घड़ी में किसी के काम आ सके। पालिका अध्यक्ष नारायण झँवर ने कोरोना आपदा में नगरपालिका द्वारा किए जा रहे कार्यो की जानकारी देते हुए संत दुलाराम कुलरिया फाउडेंशन ट्रस्ट मूलवास व भंवर-नरसी-पुनम कुलरिया का आभार व्यक्त किया। ज्ञात रहे भंवर-नरसी-पुनम कुलरिया ने इससे पहले भी मुख्यमंत्री आपदा कोष में 21 लाख रुपए का चैक सौंपा था व सीलवा, मूलवास व दावा में भी हजारों लोगों को राहत सामग्री भी वितरित की। इसके अलावा भी शिक्षा, चिकित्सा व समाजिक क्षेत्र में इन्होने जरूरतमंदों का दिल खोलकर सहयोग किया है।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %