जालोर 21 अप्रेल। जिला कलक्टर हिमांशु गुप्ता एवं पुलिस अधीक्षक हिम्मत अभिलाष ने कहा कि जिला एवं पुलिस प्रशासन जनता की हिफाजत के लिए है।
जिला कलक्टर एवं पुलिस अधीक्षक मंगलवार को कलेक्ट्रेट के सभागार में पत्रकार वार्ता को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि जालोर जिले में निवासरत नागरिकों को कोरोना संक्रमण से मुक्त रखने के लिए जिला एवं पुलिस प्रशासन संवेदनशील रहते हुए उनके जीवन हित के लिए ही आवश्यक कदम उठा रहा है। यह बात सभी को समझने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि अभी तक इस संबंध में किये गये सभी प्रबंध कोरोना संक्रमण से बचाव को ध्यान में रखते हुए किये गये है और इसमें सभी के सहयोग की महती आवश्यकता है। समय-समय पर इनकी कमियों को दूर करने के प्रयास भी निरन्तर चलते रहते हैं और आगे भी इसी उद्देश्य को ध्यान में रखते हुए प्रबन्धन कार्यप्रणाली को और मजबूत बनाया जायेगा। इनमें मुख्य रूप से लॉक डाउन, सर्दी, जुकाम, बुखार, खांसी के लक्षण वाले व्यक्तियों की चिकित्सीय जांच, बाहर से आने वाले व्यक्तियों को आईसोलेट करते हुए नागरिकों को इनसे दूर रखने की आदि व्यवस्थाएं भी शामिल हैं।
जिला कलक्टर ने मीडिया के सुझावों की ओर ध्यान देते हुए कहा कि सार्वजनिक वितरण प्रणाली के संबंध में जिला रसद अधिकारी एवं उपखंड अधिकारियों को भी आवश्यक दिशा-निर्देश दिये जा चुके हैं। गेहूं का वितरण करने के लिए गाईडलाईन्स के अनुसार व्यवस्थाएं क्रियाशील हैं। आगामी माह से चने की दाल का वितरण भी उपभोक्ताओं को किया जायेगा। जिले में सूखी खाद्य सामग्री की वितरण व्यवस्था की प्रशंसा चहुंओर से की जा रही है। प्रशासन भविष्य में भी गरीब एवं जरूरतमंद व्यक्तियों को खाद्य सामग्री वितरण करने के लिए कटिबद्ध है।
जिला कलक्टर ने आगामी 3 मई तक जारी लॉक डाउन को आमजन द्वारा गंभीरता से लेने की अपील करते हुए जिला प्रशासन का सहयोग करने एवं स्वयं के जीवन हित में घरों में ही रहने पर जोर दिया। पुलिस अधीक्षक हिम्मत अभिलाष ने कहा कि पुलिस भी कोरोना संक्रमण बचाव प्रबन्धन के नियमों की पालना करने के लिए जवाबदेह है। ऐसे जवान जो बाहर से जिले में ंड्यूटी पर लगाये गये हैं उन्हें भी क्वारेंटाईन किया गया है।
उन्होंने मीडिया से अपेक्षा की कि वे आगामी रमजान एवं आखातीज पर्व पर लोगों को लॉक डाउन, सोशल डिस्टेंसिंग एवं अन्य सावधानियों के प्रति जागरूक करने में आगे आयें। उन्होंने मीडिया को आमजन को जागरूक करने का महत्वपूर्ण साधन कहा। उन्हांने कहा कि ऐसे व्यक्ति जो लॉक डाउन की पालना नहीं करेंगे उनके खिलाफ पुलिस प्रशासन कार्यवाही करेगा। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण बचाव प्रबन्धन को और अधिक पुख्ता रूप से लागू करने के लिए जिला एवं ग्राम स्तर पर इस हेतु लगाई गई टीमों में बीट कानिस्टेबल की भूमिका को और अधिक संवेदनशील बनाया जायेगा